Home खबर एक्सप्रेस लोजपा ने जारी किया घोषणा पत्र:चुनाव में नीतीश कुमार जीते तो हार...

लोजपा ने जारी किया घोषणा पत्र:चुनाव में नीतीश कुमार जीते तो हार जाएगा बिहार, हमें 20 दिन दीजिए नजर आएगा बदलाव: चिराग पासवान

193

नीतीश कुमार के राज में बिहार में पहले से चल रहे उद्योग भी बंद हुए
उद्योग होता तो हमारे यहां के युवाओं को काम की तलाश में दूसरे राज्यों में नहीं जाना पड़ता

लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) ने बुधवार को बिहार विधानसभा चुनाव के लिए घोषणा पत्र जारी किया। इस मौके पर पार्टी के नेता चिराग पासवान ने कहा कि अगर नीतीश कुमार चुनाव में जीत जाते हैं तो बिहार हार जाएगा। नीतीश हम जैसे युवाओं की टांग खींचते हैं। चिराग ने जनता से अपील करते हुए कहा कि हमें मौका दीजिए, 20 दिन में बदलाव लाकर दिखाएंगे।

नीतीश राज में बंद हुए उद्योग
चिराग ने कहा कि नीतीश कुमार कहते हैं कि बिहार समुद्र किनारे नहीं है इसलिए यहां बड़े उद्योग नहीं लग रहे हैं। मैं पूछता हूं कि पंजाब और हरियाणा कौन से समुद्र किनारे हैं? वहां उद्योग कैसे लगे। सच तो यह है कि नीतीश कुमार के राज में बिहार में पहले से चल रहे उद्योग भी बंद हुए हैं। आज बिहार की सबसे बड़ी चिंता पलायन है। उद्योग होता तो हमारे यहां के युवाओं को काम की तलाश में दूसरे राज्यों में नहीं जाना पड़ता। हम शिक्षा और रोजगार की बात करते हैं। तीन दशक से बिहार में विकास की सिर्फ चर्चा की जा रही है। वोट जाति और धर्म की बात कह ले लिया जाता है। नीतीश कुमार जातिवाद को बढ़ावा देते हैं। उनके नेतृत्व में बिहार का विकास मुश्किल है।

चिराग ने कहा कि नीतीश कुमार हर जगह नली-गली योजना और हर खेत तक पानी पहुंचाने की योजना की बात करते हैं। सिर्फ नली-गली बनाना ही विकास नहीं है। ये काम तो 15 साल पहले हो जाने चाहिए थे।

पिता को किया याद
प्रेस कॉन्फ्रेंस की शुरुआत में चिराग ने अपने दिवंगत पिता रामविलास पासवान को याद किया। उन्होंने कहा कि आज पहली बार उनके बिना प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहा हूं। आज पापा को बहुत याद कर रहा हूं। पापा कहते थे कि शेर होगा तो जंगल चीर कर निकलेगा, मैं शेर का बच्चा हूं।

सड़क पर चलिए मुख्यमंत्री जी, सब भरम दूर हो जाएगा
चिराग ने कहा कि मुख्यमंत्री न मेरे सवाल का जवाब देते हैं और न मेरा फोन उठाते हैं। बिहार में अधिकारियों का ही बोल-बाला है। अधिकारी सरकार चलाते हैं। मुख्यमंत्री अधिकारियों को बढ़ावा देते हैं। सात निश्चय योजना में भ्रष्टाचार हुआ है। सारे काम कागज पर किए गए। मुख्यमंत्री जी सड़क पर निकलिए सब भरम दूर हो जाएगा। चिराग ने कहा कि मेरी पार्टी के दूसरे नेता हेलीकॉप्टर से चुनाव प्रचार करेंगे, लेकिन मैं सड़क मार्ग से ही प्रचार करूंगा।

चिराग ने कहा कि मुख्यमंत्री रहते नीतीश कुमार ने 15 साल में क्या काम किया। अब नीतीश राजद के शासनकाल के 15 साल की बात करते हैं। पहले उन्हें जवाब देना चाहिए कि पिछले 5 साल में क्या किया। नीतीश ने कोरोना काल में क्या किया? लॉकडाउन के दौरान लाखों प्रवासी घर लौटने को मजबूर हुए, उनके लिए सरकार ने क्या किया?

सुशांत सिंह राजपूत के मामले में भी जब तक उनके परिवार ने अपील नहीं की जांच का आदेश नहीं दिया। नीतीश सिर्फ वोट की राजनीति करते हैं। ये प्रधानमंत्री के नाम पर मुख्यमंत्री बनना चाहते हैं। इनको पता है कि इनके काम पर जनता इनको नकार देगी। मेरे पापा ने लॉकडाउन में हर घर में अनाज पहुंचवाया। हम सत्ता में आए तो किन्नर समाज को सम्मान का जीवन दिया जाएगा। मैंने किन्नर समाज के एक सदस्य को टिकट दिया है।