Home खबर एक्सप्रेस पहली बार नीतीश बोले लालू राज जंगलराज; लालू का पलटवार- ए नीतीश!...

पहली बार नीतीश बोले लालू राज जंगलराज; लालू का पलटवार- ए नीतीश! तू थक गईल बाड़ अब, तेजस्वी ने सरकार को शिक्षा और स्वास्थ्य के मुद्दे पर घेरा

84

  • नीतीश-मोदी के निशाने पर लालू, पिता-पुत्र ने कहा-उनके लिए कुर्सी ही सत्य
  • नीतीश ने कहा- लालू के शासन में लोग दिन में भी चलने से डरते थे

जदयू-भाजपा के रिश्तों पर छाए कथित संशय के बादल छांटने के लिए भाजपा नेताओं के बयान, गृह मंत्री अमित शाह की बातों के बाद अब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने संयुक्त प्रचार शुरू किया। दोनों ने एक सुर में 1990 से 2005 के शासनकाल को ‘जंगलराज’ बताया और अपने 15 साल के शासन की उपलब्धियां गिनाईं।

कहा उनके पन्द्रह साल में लोग दिन में चलने से डरते थे। हमारे 15 साल में सड़क, बिजली एवं पानी को हर घर पहुंचाने के साथ अपराध का ग्राफ बहुत नीचे हुआ है। पत्नी को मुख्यमंत्री बना कर पति खुद जेल चले गए। लेकिन महिलाओं के उत्थान के लिए कुछ नहीं किया। अभी और भी लोग जेल जाने वाले हैं।

पिछले चुनाव में आतंकराज कहा था
नीतीश ने राजद राज को 15 साल बाद ‘जंगलराज’ कहा। 2015 में 22 सितंबर को कहा था… हमने लालूराज को कभी ‘जंगल राज’ नहीं कहा…. आतंकराज का प्रयोग किया था। लेकिन रविवार को चौसा में सीएम ने जंगलराज करार दिया।

लालू तेजस्वी ने मिलकर निशाना साधा
लालू प्रसाद और तेजस्वी ने सोशल मीडिया पर रविवार को एक सुर में मुख्यमंत्री नीतीश को निशाने पर लिया। लालू ने अपने अंदाज में लिखा…बिहार में अब हिंद महासागर भेजऽल जाओ का?…पंद्रह बरस के नाकामी के ख़ाली गाल बजा के छिपइबा??…ए नीतीश! तू थक गईल बाड़ऽ अब जा आराम करऽअ।

कुछ ऐसा ही तेजस्वी ने भी लिखा…आदरणीय नीतीश कुमार जी थक चुके है। येन-केन प्रकारेण कुर्सी से चिपक कर उम्र बिताने के सिवाय उनके जीवन का अब कोई ध्येय नहीं है। उन्हें युवाओं, किसानों, मज़दूरों, छात्रों, महिलाओं और ग़रीबों की कोई चिंता नहीं है। वो कुर्सी को ही प्रथम और अंतिम सत्य मान चुके है।

न दवा न अस्पताल न स्कूल
तेजस्वी ने कहा कि 15 साल से बिहार में डबल इंजन की सरकार है जिसका एक पैर अपराध में और दूसरा पैर भ्रष्टाचार में है। शिक्षा और स्वास्थ्य की हालत चौपट है। ना दवाई है ना अस्पताल है ना अच्छा स्कूल है