Home दिल्ली देश को संबोधित करते हुए नरेंद्र मोदी ने मांगे जनता से 21...

देश को संबोधित करते हुए नरेंद्र मोदी ने मांगे जनता से 21 दिन

199

देश को संबोधित करते हुए नरेंद्र मोदी ने मांगे जनता से 21 दिन

नई दिल्ली / देश में कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) के बढ़ते खतरे से निपटने के लिए मोदी सरकार पूरी कोशिश कर रही है. इसके तहत कई अहम कदम भी उठाए जा रहे हैं. इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) कोरोना महामारी पर देश को आज दूसरी बार संबोधित कर रहे हैं. पीएम मोदी ने इस दौरान ऐलान किया कि आज रात 12 बजे से पूरे देश में लॉकडाउन किया जा रहा है. देश में यह लॉकडाउन 21 दिन के लिए होगा. यह जनता कर्फ्यू से आगे का कदम है. ये संपूर्ण लॉकडाउन एक तरह का कर्फ्यू ही है.  यह कदम हर हिंदुस्‍तानी को बचाने के लिए लिया जा रहा है

पीएम मोदी ने कहा, ‘आज इस 21 दिन अगर आप नहीं संभलें तो देश 21 साल पीछे चला जाएगा. बाहर निकलना क्‍या होता है, यह 21 दिन के लिए भूल जाइये. घर पर ही रहें.  मैं यह बात परिवार के सदस्‍य के तौर पर कह रहा हूं.’ पीएम मोदी ने कहा कि मैं यह बात परिवार के सदस्‍य के तौर पर कह रहा हूं. इसमें लिखा है,

को-कोई,
रो-रोड पर,
ना- न निकले.’

पीएम मोदी ने कहा, कुछ लोगों की लापरवाही, कुछ लोगों की गलत सोच, आपको, आपके बच्चों को, आपके माता पिता को, आपके परिवार को, आपके दोस्तों को, पूरे देश को बहुत बड़ी मुश्किल में झोंक देगी. पिछले 2 दिनों से देश के अनेक भागों में लॉकडाउन कर दिया गया है. राज्य सरकार के इन प्रयासों को बहुत गंभीरता से लेना चाहिए. आज रात 12 बजे से पूरे देश में, संपूर्ण लॉकडाउन होने जा रहा है.’

पीएम मोदी ने कहा, ‘मैं हाथ जोड़कर कह रहा हूं जो भारतीय जहां है, वहीं रहे.’ उन्‍होंने कहा कि कोरोना वायरस से निपटने का सबसे बड़ाउपाय उन देशों से सीख है, जिन्‍होंने इससे निपटने के लिए अहम कदम उठाए.

पीएम मोदी ने इस दौरान कहा कि हर भारतीय ने जनता कर्फ्यू को सफल बनाया है. हर भारतीय ने पूरी जिम्‍मेदारी के साथ जन कर्फ्यू में योगदान दिया है. आप सभी प्रशंसा के पात्र हैं.

पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना वायरस से बचने का एकमात्र उपाय है सोशल डिस्‍टेंसिंग. इसके अलावा कोई और उपाय नहीं है. कुछ लोग इस गलतफहमी में हैं कि सोशल डिस्‍टेंसिंग सिर्फ बीमारों के लिए है. यह सही नहीं है. यह सभी नागरिकों के लिए है, प्रधानमंत्री के लिए भी है.