Home बिहार कोरोना से भी खतरनाक अंचलाधिकारी जमालपुर

कोरोना से भी खतरनाक अंचलाधिकारी जमालपुर

192

पटना बिहार ब्यूरो की रिपोर्ट

कोरोना से भी खतरनाक अंचलाधिकारी जमालपुर श्री शंभू मंडल

आए दिनों मुंगेर जिला के जमालपुर अंचल के अंचल अधिकारी श्री शंभू मंडल और राजस्व कर्मचारी श्री रविशंकर सिन्हा के द्वारा अंचल कार्यालय जमालपुर को भ्रष्टाचार का अड्डा बनाया हुआ है। कोरोना तो आज है कल चली जाएगी लेकिन यह जो भ्रष्टाचार व्याप्त है इसे जाने में काफी समय लगेगा। संवाद सूत्र से बात करने पर पता चला कि उन्होंने राजस्व कर्मचारी श्री रविशंकर सिन्हा के विषय में राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग पटना को मेल के माध्यम से आवेदन समर्पित कर इसकी सूचना मेल के माध्यम से मुख्यमंत्री बिहार सरकार माननीय आयुक्त महोदय मुंगेर माननीय जिला पदाधिकारी मुंगेर अंचल अधिकारी जमालपुर भी दिया है। बावजूद अंचल कार्यालय जमालपुर में भ्रष्टाचार समाप्त होने का नाम ही नहीं ले रही है। हाल ही में युवा नगर राजद अध्यक्ष जमालपुर श्री सुभाष कुमार वर्मा ने भी अपने बयान में कहा है की अंचल अधिकारी जमालपुर भ्रष्ट एवं रिश्वतखोर व्यक्ति होने के संदर्भ में कहा है। जमालपुर अंचल अंतर्गत भूमि विवाद पैदा करने में अंचल अधिकारी जमालपुर से संभू मंडल की अहम भूमिका रहती है। पुनः युवा नगर राजद अध्यक्ष जमालपुर ने आज एक वीडियो के माध्यम से या बियर स्पष्ट किया है अंचलाधिकारी जमालपुर शंभू मंडल कोरोनावायरस से भी खतरनाक है। उन्होंने या अभी बताया है अगर उस जमीन पर किसी तरह का कांड होता है तो उसका कारण से अंचलाधिकारी जमालपुर है। अंचल अधिकारी जमालपुर एक सम्मानित पद पर रहते हुए भी मीडिया को दलाल जैसे शब्दों से मानवता के चौथे स्तंभ के गरिमा को भी चूर चूर कर देते हैं। हाल ही में अंचल अधिकारी श्री मंडल के द्वारा एच टी एन न्यूज़ के बिहार झारखंड ब्यूरो प्रमुख एवं बिहारी खबर राष्ट्रीय मासिक पत्रिका के पत्रकार विवेक कुमार यादव को व्हाट्सएप के माध्यम से दलाल जैसे शब्दों से सम्मानित किया है साथ ही उक्त पत्रकार पर f.i.r. करने की भी बात कही है। पत्रकार श्री विवेक कुमार यादव की गलती सिर्फ इतनी है कि उन्होंने जमालपुर अंचल में फैले भ्रष्टाचार को जड़ से मिटाने के लिए उसका पर्दाफाश करने का अपराध किया। शायद यही कारण है कि बहुत सारे पत्रकार भी इनके विरुद्ध छापने से डरते हैं ऐसा प्रतीत होता है। राजस्व कर्मचारी श्री रविशंकर सिन्हा और अंचल अधिकारी जमालपुर श्री शंभू मंडल दोनों ही मिलकर गरीब कमजोर तबकों के लोगों को परेशान कर भूमि माफियाओं का साथ देने में लगे हैं। कहीं ना कहीं राजस्व एवं भूमि सुधार के माननीय मंत्री का कथन सही होता दिख रहा है। अब जरूरत है कोरोना से भी खतरनाक बीमारी भ्रष्टाचार को समाप्त करने की।