Home खबर एक्सप्रेस बैतूल हरदा सीट भाजपा प्रत्यासी डीडी उइके से चुनावी रणनीति पर...

बैतूल हरदा सीट भाजपा प्रत्यासी डीडी उइके से चुनावी रणनीति पर एक खास बातचीत

454

भाजपा पार्टी ने जाती प्रमाण पत्र के मामले घिरी बैतूल हरदा लोक सभा सीट से बीते दस सालो से सांसद रही ज्योति धुर्वे का टिकट काटकर संघ की पसंद के उम्मीदवार दुर्गादास (डीडी)उइके को टिकिट देकर अपना  उम्मीदवार बनाया है वैसे तो भाजपा पार्टी से इस बार टिकिट की दौड़ में तीन नाम और जिनमे हरसूद विधायक विजय शाह ,घोड़ाडोंगरी के पूर्व विधायक मंगल सिंह और घोड़ाडोंगरी के पूर्व दिवंगत विधायक की पत्नी व् महिला आयोग की सदस्य गंगा बाई उइके भी शामिल थी लेकिन पार्टी ने तीन नामो को दरकिनार करते हुए संघ की पसंद के उम्मीदवार डीडी उइके को इस सीट से अपना प्रत्यासी बनाया है शिक्षित परिवार में 29 अक्टूबर 1963 को जन्मे 58 वर्षीय उइके ने एमए  बीएड तक की पढ़ाई की है और ये पेशे से सरकारी स्कुल में शिक्षक पद पर आसीन थे। उन्होंने कुछ दिन पूर्व ही अपने पद से इस्तीफा दिया है। डीडी उइके ने 1984 में देश के जाने माने धार्मिक गायत्री परिवार के आचार्य से दीक्षा लेने के बाद निरंतर इस परिवार में सक्रीय भूमिका रहे है।  उइके आदिवासी समाज के साथ साथ दूसरे समाज में भी एक बड़ी पैठ रखते है उइके का राजनीति में प्रवेश संघ के बतौर एक स्वयं सेवक के रूप में बीते 29 वर्ष पूर्व हुआ था संघीय स्वयं सेवक होने के नाते ये राज्य व् केंद्र के प्रमुख राजनेताओ के चहेते माने जाते है सूत्रों की माने तो डीडी उइके को विनिंग केंडिडेट मानकर उनेह चुनावी मैदान में उतारा गया है 

डीडी उइके को भाजपा पार्टी से प्रत्यासी बनाये जाने की खबर लगते ही उनके घर में उनेह बधाई देने वालो का ताता लग गया देर रात जब उइके अपने घर पहुंचे तो उनका स्वागत बाजे गाजे के साथ आतिश बाजी करते हुए किया गया परिवार वालो ने मिठाई खिलाकर उनकी आरती उतारी उनेह बधाई देने पहुंचे लोगो ने भी फूल माला से उनका स्वागत करते हुए उनेह मिठाई खिलाई