Home ELECTION UPDATE 2020 गोवा में मुख्यमंत्री को लेकर संकट, नितिन गडकरी ने की बैठक

गोवा में मुख्यमंत्री को लेकर संकट, नितिन गडकरी ने की बैठक

359

पणजी। मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद गोवा की भाजपा सरकार पर संकट में घिरती नजर आ रही है। भाजपा के सामने अब पर्रिकर की जगह नए नेता की तलाश करने में काफी मशक्कत करनी पडेगी, जो सबको साथ लेकर चल सके। दूसरी ओर, कांग्रेस पहले ही राज्यपाल को पत्र लिखकर सरकार बनाने का दावा पेश कर चुकी है। इसको ध्यान में रखकर रविवार रात को ही केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी गोवा पहुंचकर पार्टी नेताओं के साथ बैठक ले रहे हैं।

रविवार रात नितिन गडकरी के साथ महाराष्ट्रवादी गोमंतक पार्टी के नेता सुदिन धवलीकर ने भी बैठक की। धवलीकर ने कहा कि वो अपनी पार्टी के साथ बैठक करने के बाद बताएंगे कि मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार कौन होगा?

गोवा के मुख्यमंत्री पर्रिकर का रविवार को 63 वर्ष की आयु में निधन हो गया, वह लंबे वक्त से पैन्क्रियाटिक कैंसर से ग्रसित थे। वह गोवा में एक गठबंधन सरकार है, जिसमें भाजपा, गोवा फॉरवर्ड पार्टी, एमजीपी और निर्दलीय विधायक शामिल हैं। पर्रिकर के निधन के बाद कांग्रेस और भाजपा दोनों ही दल बैठकें मौजूदा हालात पर मंथन करने में जुटे हुए थे।

पणजी विधानसभा सीट का प्रतिनिधित्व करने वाले पर्रिकर के निधन के बाद इस सीट पर उपचुनाव कराने की आवश्यकता होगी। यह गोवा में चौथा उपचुनाव होगा। यहां 23 अप्रैल को शिरोडा, मांडरेम और मापुसा विधानसभा सीटों के लिए उपचुनाव होने वाले हैं। इन सीटों के लिए उपचुनाव राज्य में होने वाले लोकसभा चुनाव के साथ होंगे।

आपको बताते जाए कि कांग्रेस वर्तमान में 14 विधायकों के साथ राज्य में सबसे बड़ी पार्टी है जबकि 40 सदस्यीय गोवा विधानसभा में बीजेपी के पास 13 विधायक हैं। गोवा फॉरवर्ड पार्टी, एमजीपी और निर्दलीयों के 3-3 विधायक हैं और एनसीपी का एक विधायक है। इस साल के प्रारंभ में भाजपा विधायक फ्रांसिस डिसूजा और रविवार को पर्रिकर के निधन तथा पिछले साल कांग्रेस के दो विधायकों सुभाष शिरोडकर और दयानंद सोपटे के इस्तीफे के कारण सदन का संख्याबल 36 हो गया था। पर्रिकर के निधन के बाद गठबंधन सहयोगी दलों ने आपात बैठकें बुलाई गई हैं। विजय सरदेसाई के नेतृत्व वाले गोवा फॉरवर्ड पार्टी के तीन विधायक और एमजीपी के तीन विधायक अलग-अलग बैठ कर रहे हैं।