15 महीने के मासूम बच्चे की हत्या का खुलासा

162

ग्राम कुंजेटा के निवासी शमीम अहमद ने 5 अप्रैल को बढ़ापुर थाने में अपने 15 माह के पुत्र अबुजर के गुमशुदा होने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। काफी तलाशने के बाद अबुजर का कोई पता नही चला। 7 अप्रैल को मासूम अबुजर का शव पास के ही जंगल में बोरी में पड़ा मिला था। पुलिस ने मामले की तफ्तीश करते हुए बच्चे की चाची फरहाना को हिरासत में लेकर कड़ी पूछताछ की तो फरहाना ने बताया कि उसने अपनी दो सहेलियों गुड्डो, रोशन और अपने भाई वसीम के साथ मिलकर पहले तो मासूम अबुजर का अपहरण किया बाद में उसी रात गाला दबाकर उसकी हत्या कर दी। हत्या की वजह के बारे में उसने पुलिस को बताया कि वो नही चाहती थी कि प्रोपर्टी का आगे चलकर बटवारा हो। वो सारी प्रोपर्टी अपने दोनों लड़को के लिये ही चाहती थी। इसीलिए उसने अपने जेठ शमीम अहमद के बच्चे की हत्या कर दी।