Home न्यूज़ युवाओं ने वाट्सअप पर बनाया ग्रुप और बदल दी गांव की तस्वीर,...

युवाओं ने वाट्सअप पर बनाया ग्रुप और बदल दी गांव की तस्वीर, सब कर रहे इनकी तारीफ

61

उमरेह.देश मे पंचायतीराज लागू हुआ तो गाँवों के विकास के लिए ग्राम पंचायतो के माध्यम से सरकार ने संसाधन ओर भारी भरकम बजट देना शुरू हुआ पर अधिकारियों ओर गाँव की सरकार की जुगलबंदी से इस पैसे का दुरुपयोग भी ख़ूब हुआ है नरेगा इसका जीता जागता उदाहरण है तभी तो वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछली सरकार की महात्मा गांधी योजना नरेगा का जगह जगह उदाहरण दिया खेर
प्रत्येक समस्या के समाधान के लिए शासन प्रशासन की ओर ताकने ओर कोसने के बजायें नागरिकों को भी अपनी सोच बदलते हुए ख़ुद भी कुछ पहल करनी चाहिए इसे साबित कर दिखाया है गाँव उमरेह के युवाओं ने सोशल साइट आमतौर पर लोग टाइम पास, वीडियो तथा मैसेज भेजने या मौज-मस्ती के रूप में काम में लेते हैं, लेकिन गांव उमरेह के युवाओं ने सोशल साइट वाट्सएप पर गांव के युवाओं का ग्रुप बना कर एक दूसरे को प्रेरित कर हजारों रुपए एकत्र कर गांव के विकास में खर्च कर दिए।
जानकारी के अनुसार उमरेह के युवाओं ने अपने गांव से बाहर रहकर जो युवा नौकरी या व्यापार करते हैं तथा गांव के ऐसे युवा जो सामाजिक कार्यों में हिस्सा लेते है।
उनको मिलाकर उमरेह विकास समिति के नाम से वाट्सएप ग्रुप बनाया। इस ग्रुप में चैट कर गांव की समस्याओं से एक दूसरे को अवगत कराया। इसके बाद युवाओं ने गांव के विकास के लिए अपनी कमाई से कुछ हिस्सा गांव के विकास में देने की ठानी।
गाँव के युवाओं ने अपने ख़र्चे से गाँव के हर पोल पर स्ट्रीट लाइटे लगवाई है समिति ने गाँव के मुख्य रास्तों में 70 स्थानो पर क़रीब 65000 की लागत से स्ट्रीट लाइटे लगवाई है इससे गाँव में जहाँ पहले शाम होते ही अँधेरा छा जाता था बही अब रात के समय गाँव के रास्ते जगमग नज़र आ रहे है गाँव का दृश्य भी मनमोहक लग रहा है गाँव के लोगों ने बताया कि गाँव में पहले रोशनी का प्रबंध नही होने से शाम होते ही रास्तों पर अंधेरा छा जाता था इससे लोगों को रात के समय आवागमन में परेशानी होती थी बही
असामाजिक तत्वों भी ख़तरा बना रहता था इस मुद्दे पर ग्रूप पर चर्चा करने बाद स्ट्रीट लाइटे लगवाने का निर्णय लिया गाँव के पोलो पर अब लाइटे लगने से रात के समय रास्ते उजाले से सराबोर रहते है बही नज़ारा ख़ूबसूरत हो उठा है गाँव के युवाओं ने बताया कि इस ग्रूप मे अधिकतर सरकारी सेवा में कार्यरत लोग जुड़े हुए है जो समय समय पर गाँव के विकास के लिए अपना सहयोग करते रहते है

रिपोर्ट -खेमराज मीना धोलपुर